Connect with us

देश

भूकंप पीड़ितों की मदद करेंगे एवरेस्ट पर्वतारोही

Published

on

नई दिल्ली| किसी भारतीय द्वारा माउंट एवेरेस्ट को पहली बार फतह करने की 50वीं वर्षगांठ का उत्सव पारंपरिक रूप से न मनाकर, भारतीय पर्वतारोही दल के जीवित सदस्यों ने नेपाल में भूकंप प्रभावितों की मदद करने का फैसला किया है। (nepal earthquake latest hindi news) मई 1965 में पहली बार माउंट एवरेस्ट फतह करने वाले पर्वतारोहियों के दल की अगुवाई करने वाले कैप्टन एम.एस. कोहली ने एक साक्षात्कार में बताया, “सदस्यों ने वर्षगांठ को धूमधाम से मनाने की योजना बनाई थी, लेकिन अब हमने भूकंप पीड़ितों की मदद करने का फैसला किया है।”

कोहली ने बताया कि वर्षगांठ का उत्सव रद्द करने के बजाय हमने उसका नाम बदल कर ‘नेपाल ट्रॉमा फंक्शंस’ रख दिया है। उन्होंने बताया कि नेपाल भूकंप पीड़ितों की मदद के लिए धन जुटाने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में बैठकें की जाएंगी।

इसके अलावा पर्वतारोही दल के सदस्य भूकंप प्रभावित लोगों की मदद के लिए नेपाल जाने के लिए स्वयंसेवकों का आह्वान करेंगे।

राजवंशी ने बताया, “हमारी टीमें प्रभावित लोगों से मिलकर मानसिक संबल देने की कोशिश करेंगी।”

यह पूछने पर कि क्या 1965 की टीम के सभी सदस्य नेपाल त्रासदी पीड़ितों की मदद की योजना में शामिल होंगे? कोहली ने कहा कि टीम के 19 सदस्यों में से केवल नौ जीवित हैं और उनमें से दो या तीन लोग बहुत वृद्ध हो गए हैं। यह देखना है कि वे यात्रा करने लिए फिट हैं या नहीं।

एवरेस्ट पर हिमस्लन के बाद क्या लोगों को इसकी चोटियों पर जाना बंद कर देना चाहिए? कोहली ने कहा, “हिमस्खलन एक बार होता है, लेकिन वहां आपकी जिंदगी को हमेशा खतरा रहता है।”

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि 25 अप्रैल को हुए हिमस्खलन का पर्वतारोहियों पर कोई नकारात्मक असर पड़ेगा। ऊंची चोटियों से उनका लगाव बना रहेगा।”

सभी खतरों को जानने के बाद भी लोग ऐसा क्यों करते हैं? कोहली ने कहा, “यह एक एहसास है जो ऊंचाइयों की ओर आकर्षित करता है।”

वापस आने पर आप पूरी तरह बदले इंसान होते हैं।

उन्होंने बताया, “आप नए हो जाते हैं। आपका पूरा अनुभव जादुई होता है। आप शब्दों में इसे बयां नहीं कर सकते।”

अन्य ख़बरें

सपा बसपा मुसलमान को तेज पत्ते की तरह करती हैं इस्तेमाल: नसीमुद्दीन सिद्दीकी

Published

on

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। बुधवार को मुरादनगर कस्बे के मलिक नगर मोहल्ले में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बिजेंद्र यादव के द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रांतीय अध्यक्ष नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने संबोधित किया।प् ा्रांतीय अध्यक्ष नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हिंदू मुसलमान के बीच में खाई पैदा करके देश को तोड़ना चाहती है जबकि दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी 3700 किलोमीटर की पदयात्रा कर हिंदू मुसलमान के बीच में पैदा की गई इस खाई को पाटकर भारत को जोड़ने का काम कर रहे हैं।
प्रांतीय अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर क्षेत्रीय दल समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी किसी ना किसी तरीके से भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंचाने का काम करते हैं। यह दोनों दल चुनाव के समय में मुसलमानों का भरपूर इस्तेमाल करते हैं और चुनाव के बाद मुसलमानों को बेसहारा और यतीम समझ कर छोड़ देते हैं ।
इसका उदाहरण प्रांतीय अध्यक्ष ने यह देते हुए कहा कि जैसे खाना बनाते समय स्वाद के लिए खाने में तेजपात के पत्ते का का इस्तेमाल किया जाता है और खाना बनने के बाद खाना खाने से पहले तेजपात के पत्ते को निकाल कर बाहर फेंक दिया जाता है। ऐसा ही कुछ हालात उत्तर प्रदेश के अंदर मुसलमानों के साथ हो रहा है। बैठक में पूर्व मंत्री सतीश शर्मा , इरफान सैफी , कामेश्व रत्न और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव जनपद मेरठ बागपत प्रभारी नसीम खान ,जिला उपाध्यक्ष संगठन प्रभारी अमोल वशिष्ट , पूर्व महिला आध्यक्ष पूजा चड्ढा , हाजी अब्दुल सिद्दीक , हाजी मुस्तफा कारी मोहम्मद आलम , हाजी मोहम्मद अख्तर , सैयद इरफान अली, कयूम कुरेशी, आबेदीन सिद्दीकी, जमालुद्दीन, राजवीर , सुरेंद्र शर्मा , राजाराम भारती, मोहम्मद हनीफ चीनी, राजेंद्र शर्मा, राजाराम भारती , विजय पाल चौधरी, सुनील शर्मा, एस एन राय, राजेश गुप्ता, कृपाशंकर, चेयरमैन नवाब , अख्तर अली, अयूब, एहसान अली, आसिफ सिद्दीकी, शान अब्बासी, सलमान अब्बासी, मोहम्मद रजा मुराद , दिनेश शर्मा , दलित कांग्रेस अध्यक्ष पंकज तंजानिया, जनाब फखरुद्दीन, शमसुद्दीन आदि लोग मौजूद रहे।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

खुशखबरी: जनपद को जल्द मिलेगा एक और संयुक्त जिला चिकित्सालय

Published

on

संयुक्त जिला चिकित्सालय लोनी के लिए 50 पद स्वीकृत, 20 चिकित्सक और 20 पैरा मेडिकल स्टाफ के हैं पद
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। जिले को जल्द एक और संयुक्त जिला चिकित्सालय मिलने वाला है। लोनी में संयुक्त जिला चिकित्सालय बनकर तैयार है। 50 बेड के इस चिकित्सालय के लिए शासन से 58 पद भी स्वीकृत हो गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. भवतोष शंखधर ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया चिकित्सालय में महिला और पुरुष विंग बनाए जा रहे हैं।
ये पद किए गए स्वीकृत
दोनों के लिए अलग-अलग मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के पद स्वीकृत हुए हैं। कुल चिकित्सकों के पदों में से 14 पुरुष विंग के लिए और छह महिला विंग के लिए हैं। इसके अलावा 20 पद पैरा मेडिकल स्टाफ के हैं और सहायक कर्मचारियों के 18 पद आऊटसोर्सिंग के जरिए भरे जाएंगे। सीएमओ ने मंगलवार को संयुक्त चिकित्सालय लोनी का निरीक्षण भी किया।
आउट सोर्सिंग से भरे जायेंगे 18 पद
सहायक कर्मचारियों के 18 पद आऊटसोर्सिंग के जरिए भरे जाएंगे। सीएमओ ने कहा एक और संयुक्त जिला चिकित्सालय शुरू होने से जिले में स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर होंगी। लोनी क्षेत्र में रहने वाले लोगों को गाजियाबाद तक की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। इसके साथ ही जिला एमएमजी चिकित्सालय और संजयनगर संयुक्त जिला चिकित्सालय पर काम का बोझ कम होगा और लाभार्थियों को पहले से बेहतर सुविधाएं प्राप्त हो सकेंगी।

इन चिकित्सकों की होंगी नियुक्तियां
(करंट क्राइम)। सीएमओ ने बताया – पुरुष इकाई में एक फिजीशियन, एक बाल रोग विशेषज्ञ, एक रेडियोलॉजिस्ट, एक पैथोलॉजिस्ट, एक डेंटल सर्जन, एक एनस्थेटिस्ट, एक जनरल सर्जन, एक हड्डी रोग विशेषज्ञ, एक ईएनटी सर्जन, एक नेत्र सर्जन, एक ईएमओ (इमरजेंसी मेडिकल आफिसर) और एक मुख्य चिकित्सा अधीक्षक का पद स्वीकृत किया गया है। इसी प्रकार महिला इकाई के लिए एक अधीक्षिका, एक स्त्री रोग विशेषज्ञ, एक निश्चेतक और तीन पद ईएमओ के हैं। पैरा मेडिकल स्टाफ में एक एक्स-रे टेक्नीशियन, दो लैब टेक्नीशियन, दो फार्मासिस्ट, एक वरिष्ठ सहायक, दो कनिष्ठ सहायक, दो नर्सिंग सिस्टर, आठ स्टाफ नर्स, एक नेत्र सहायक और एक डेंटल हाईजिनिस्ट का पद स्वीकृत किया गया है।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

लैंडक्राफ्ट में युवक की संदिग्ध मौत, पुलिस जांच में जुटी

Published

on

आठवीं मंजिल पर क्या कर रहा था मृतक युवक
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। कवि नगर थाना अंतर्गत आने वाले लैंडक्राफ्ट सोसाइटी में मंगलवार की रात एक 20 वर्षीय युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि वह आठवीं मंजिल से नीचे गिर गया। मृतक की शिनाख्त हापुड़ निवासी वरदान शर्मा के रूप में हुई है। परिवार वालों के अनुसार वह शाम चार बजे तक हापुड़ में था। यहां वह क्या करने आया था और किससे मिलने, यह किसी को पता नहीं है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही सोसाइटी की सीसीटीवी फुटेज व अन्य पहलुओं पर जांच की जा रही है। कवि नगर एसएचओ अमित ने बताया है कि मृतक की पहचान वरदान शर्मा पुत्र सुनील शर्मा निवासी हापुड़ के रूप में हुई है। पुलिस को सूचना मिली कि युवक आठवीं मंजिल से गिरा है। पुलिस मौके पर पहुंची और तब तक उसे आसपास के लोग पास के निजी अस्पताल लेकर पहुंचे जहां उसकी मौत हो चुकी थी। उधर मृतक युवक के परिजन इसे हादसा होने से इंकार कर रहे हैं। पुलिस फिलहाल पूरे मामले को संदिग्ध मौत मानकर जांच कर रही है। सवाल उठ रहा है कि युवक ने आत्महत्या की या उसको किसी ने धक्का दिया।
—-

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: