Connect with us

देश

जयललिता मामले में तमिलनाडु द्वारा अभियोजक की नियुक्ति गलत : सर्वोच्च न्यायालय

Published

on

नई दिल्ली| सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता के खिलाफ कर्नाटक उच्च न्यायालय में चल रहे आय से अधिक संपत्ति मामले में तमिलनाडु द्वारा विशेष लोक अभियोजक (एसपीपी) की नियुक्ति को कानूनी रूप से गलत ठहराया है। (tamilnadu hindi news) न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति आर. के. अग्रवाल और न्यायमूर्ति प्रफुल्ल सी. पंत की पीठ ने भवानी सिंह की नियुक्ति को दोषपूर्ण करार दिया और साथ ही यह भी कहा कि आय से अधिक संपत्ति मामले में जयललिता की याचिका पर आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है।
न्यायमूर्ति मिश्रा ने फैसला सुनाते हुए कहा कि तमिलनाडु सरकार के पास भवानी सिंह को एसपीपी के तौर पर नियुक्त करने का अधिकार नहीं है, क्योंकि न्यायालय में मामला कर्नाटक सरकार चला रही है, लिहाजा एसपीपी की नियुक्ति का अधिकार कर्नाटक सरकार के ही पास है।
कड़गम (डीएमके) के नेता के. अंबाझगन ने तमिलनाडु सरकार की तरफ से की गई नियुक्ति को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी, जिस पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने यह फैसला सुनाया।
अन्य आरोपियों को 27 सिंतबर, 2014 को बेंगलुरू की एक अदालत ने आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी ठहराया था। जयललिता ने अदालत के इस फैसले को चुनौती दी थी।
चार साल कारावास की सजा सुनाई थी और 100 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया था।
एन. शशिकला, वी. एन. सुधारकरण और जे. इलावारसी को भी सजा सुनाई गई थी। इन तीनों ने भी उच्च न्यायालय में अपील की थी।
लोकुर और न्यायमूर्ति आर. भानुमति की पीठ ने 17 अप्रैल को खंडित फैसला सुनाया था, जिसके बाद सर्वोच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय पीठ ने मामले पर सुनवाई की।
सिंह की नियुक्ति से कर्नाटक उच्च न्यायालय की सुनवाई को प्रभावित किया है, जबकि न्यायमूर्ति भानुमति को भवानी सिंह की नियुक्ति में कानूनी गड़बड़ी नजर नहीं आई थी।

अन्य ख़बरें

सपा बसपा मुसलमान को तेज पत्ते की तरह करती हैं इस्तेमाल: नसीमुद्दीन सिद्दीकी

Published

on

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। बुधवार को मुरादनगर कस्बे के मलिक नगर मोहल्ले में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बिजेंद्र यादव के द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रांतीय अध्यक्ष नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने संबोधित किया।प् ा्रांतीय अध्यक्ष नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हिंदू मुसलमान के बीच में खाई पैदा करके देश को तोड़ना चाहती है जबकि दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी 3700 किलोमीटर की पदयात्रा कर हिंदू मुसलमान के बीच में पैदा की गई इस खाई को पाटकर भारत को जोड़ने का काम कर रहे हैं।
प्रांतीय अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर क्षेत्रीय दल समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी किसी ना किसी तरीके से भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंचाने का काम करते हैं। यह दोनों दल चुनाव के समय में मुसलमानों का भरपूर इस्तेमाल करते हैं और चुनाव के बाद मुसलमानों को बेसहारा और यतीम समझ कर छोड़ देते हैं ।
इसका उदाहरण प्रांतीय अध्यक्ष ने यह देते हुए कहा कि जैसे खाना बनाते समय स्वाद के लिए खाने में तेजपात के पत्ते का का इस्तेमाल किया जाता है और खाना बनने के बाद खाना खाने से पहले तेजपात के पत्ते को निकाल कर बाहर फेंक दिया जाता है। ऐसा ही कुछ हालात उत्तर प्रदेश के अंदर मुसलमानों के साथ हो रहा है। बैठक में पूर्व मंत्री सतीश शर्मा , इरफान सैफी , कामेश्व रत्न और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव जनपद मेरठ बागपत प्रभारी नसीम खान ,जिला उपाध्यक्ष संगठन प्रभारी अमोल वशिष्ट , पूर्व महिला आध्यक्ष पूजा चड्ढा , हाजी अब्दुल सिद्दीक , हाजी मुस्तफा कारी मोहम्मद आलम , हाजी मोहम्मद अख्तर , सैयद इरफान अली, कयूम कुरेशी, आबेदीन सिद्दीकी, जमालुद्दीन, राजवीर , सुरेंद्र शर्मा , राजाराम भारती, मोहम्मद हनीफ चीनी, राजेंद्र शर्मा, राजाराम भारती , विजय पाल चौधरी, सुनील शर्मा, एस एन राय, राजेश गुप्ता, कृपाशंकर, चेयरमैन नवाब , अख्तर अली, अयूब, एहसान अली, आसिफ सिद्दीकी, शान अब्बासी, सलमान अब्बासी, मोहम्मद रजा मुराद , दिनेश शर्मा , दलित कांग्रेस अध्यक्ष पंकज तंजानिया, जनाब फखरुद्दीन, शमसुद्दीन आदि लोग मौजूद रहे।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

खुशखबरी: जनपद को जल्द मिलेगा एक और संयुक्त जिला चिकित्सालय

Published

on

संयुक्त जिला चिकित्सालय लोनी के लिए 50 पद स्वीकृत, 20 चिकित्सक और 20 पैरा मेडिकल स्टाफ के हैं पद
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। जिले को जल्द एक और संयुक्त जिला चिकित्सालय मिलने वाला है। लोनी में संयुक्त जिला चिकित्सालय बनकर तैयार है। 50 बेड के इस चिकित्सालय के लिए शासन से 58 पद भी स्वीकृत हो गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. भवतोष शंखधर ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया चिकित्सालय में महिला और पुरुष विंग बनाए जा रहे हैं।
ये पद किए गए स्वीकृत
दोनों के लिए अलग-अलग मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के पद स्वीकृत हुए हैं। कुल चिकित्सकों के पदों में से 14 पुरुष विंग के लिए और छह महिला विंग के लिए हैं। इसके अलावा 20 पद पैरा मेडिकल स्टाफ के हैं और सहायक कर्मचारियों के 18 पद आऊटसोर्सिंग के जरिए भरे जाएंगे। सीएमओ ने मंगलवार को संयुक्त चिकित्सालय लोनी का निरीक्षण भी किया।
आउट सोर्सिंग से भरे जायेंगे 18 पद
सहायक कर्मचारियों के 18 पद आऊटसोर्सिंग के जरिए भरे जाएंगे। सीएमओ ने कहा एक और संयुक्त जिला चिकित्सालय शुरू होने से जिले में स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर होंगी। लोनी क्षेत्र में रहने वाले लोगों को गाजियाबाद तक की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। इसके साथ ही जिला एमएमजी चिकित्सालय और संजयनगर संयुक्त जिला चिकित्सालय पर काम का बोझ कम होगा और लाभार्थियों को पहले से बेहतर सुविधाएं प्राप्त हो सकेंगी।

इन चिकित्सकों की होंगी नियुक्तियां
(करंट क्राइम)। सीएमओ ने बताया – पुरुष इकाई में एक फिजीशियन, एक बाल रोग विशेषज्ञ, एक रेडियोलॉजिस्ट, एक पैथोलॉजिस्ट, एक डेंटल सर्जन, एक एनस्थेटिस्ट, एक जनरल सर्जन, एक हड्डी रोग विशेषज्ञ, एक ईएनटी सर्जन, एक नेत्र सर्जन, एक ईएमओ (इमरजेंसी मेडिकल आफिसर) और एक मुख्य चिकित्सा अधीक्षक का पद स्वीकृत किया गया है। इसी प्रकार महिला इकाई के लिए एक अधीक्षिका, एक स्त्री रोग विशेषज्ञ, एक निश्चेतक और तीन पद ईएमओ के हैं। पैरा मेडिकल स्टाफ में एक एक्स-रे टेक्नीशियन, दो लैब टेक्नीशियन, दो फार्मासिस्ट, एक वरिष्ठ सहायक, दो कनिष्ठ सहायक, दो नर्सिंग सिस्टर, आठ स्टाफ नर्स, एक नेत्र सहायक और एक डेंटल हाईजिनिस्ट का पद स्वीकृत किया गया है।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

लैंडक्राफ्ट में युवक की संदिग्ध मौत, पुलिस जांच में जुटी

Published

on

आठवीं मंजिल पर क्या कर रहा था मृतक युवक
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। कवि नगर थाना अंतर्गत आने वाले लैंडक्राफ्ट सोसाइटी में मंगलवार की रात एक 20 वर्षीय युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि वह आठवीं मंजिल से नीचे गिर गया। मृतक की शिनाख्त हापुड़ निवासी वरदान शर्मा के रूप में हुई है। परिवार वालों के अनुसार वह शाम चार बजे तक हापुड़ में था। यहां वह क्या करने आया था और किससे मिलने, यह किसी को पता नहीं है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही सोसाइटी की सीसीटीवी फुटेज व अन्य पहलुओं पर जांच की जा रही है। कवि नगर एसएचओ अमित ने बताया है कि मृतक की पहचान वरदान शर्मा पुत्र सुनील शर्मा निवासी हापुड़ के रूप में हुई है। पुलिस को सूचना मिली कि युवक आठवीं मंजिल से गिरा है। पुलिस मौके पर पहुंची और तब तक उसे आसपास के लोग पास के निजी अस्पताल लेकर पहुंचे जहां उसकी मौत हो चुकी थी। उधर मृतक युवक के परिजन इसे हादसा होने से इंकार कर रहे हैं। पुलिस फिलहाल पूरे मामले को संदिग्ध मौत मानकर जांच कर रही है। सवाल उठ रहा है कि युवक ने आत्महत्या की या उसको किसी ने धक्का दिया।
—-

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: