Connect with us

गैजेट्स

जुकरबर्ग बसाने जा रहे हैं फेसबुक ‘जी टाउन’

Published

on

गैजेट डेस्क. सोशल मीडिया की नई दुनिया बनाने वाले फेसबुक के मार्क जुकरबर्ग अब अपना खुद का शहर बनाने जा रहे हैं। सैन फ्रांसिस्को में 200 एकड़ के एक प्लॉट पर बनने वाले इस शहर में फेसबुक के 10, 000 कर्मचारी रहेंगे। जुकरबर्ग चाहते हैं कि उनकी कंपनी के हेडक्वार्टर के पास ही यह शहर बने। इसे फिलहाल ‘ज़ी-टाउन’ नाम दिया गया है, जिसमें सुपर मार्केट, होटल और लग्जरी अपार्टमेंट्स होंगे। इतना ही नहीं, ईको फ्रेंडली फील के लिए हर बिल्डिंग की 40 फीट ऊंची छत पर Oak trees लगाए जाएंगे। जुकरबर्ग इसे जल्द से जल्द तैयार करना चाहते हैं।

लग्जरी विला से लेकर अपार्टमेंट्स तक
इस ज़ी टाउन में कंपनी के हाई-पेज एग्जीक्यूटिव्स के लिए लग्जरी विला तो होंगे ही, ट्रेनी सहित अन्य छोटे कर्मचारियों के लिए भी अपार्टमेंट्स होंगे। सिटी प्रशांंत महासागर के किनारे बन रही है, इसलिए नजारे भी अद्भुत होंगे। जुकरबर्ग की योजना इस प्रोजेक्ट पर 400 मिलियन डॉलर खर्च करने की है। जुकरबर्ग ने इसके लिए जाने-माने आर्किटेक्ट फ्रैंक गैरी को हायर किया है, जिन्होंने बिलबाओ (स्पेन) का मशहूर गुगनहेम म्यूजियम का डिजाइन तैयार किया था।
इन्होंने भी बसाया अपना शहर
दुनिया के अमीरों की फोर्ब्स लिस्ट में 15वें पायदान पर रहने वाले जुकरबर्ग अकेले बिजनेस टायकून नहीं है, जो अपनी कंपनी के लिए शहर बसा रहे हैं। उनसे पहले कैडबरी फैमिली ने भी बर्मिंघम के नजदीक ‘बोर्नवैली’ नाम से शहर बसाया था। बाद में उन्होंने यह नाम अपनी एक प्लेन चॉकलेट ब्रांड को भी दिया। इसके अलावा अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस ने भी कंपनी के लिए अलग शहर बसाने की योजना बनाई थी।

गैजेट्स

OnePlus Nord CE को भारत में Android 12-आधारित OxygenOS 12 अपडेट मिल रहा है

Published

on

 OnePlus, OnePlus Nord CE के लिए Android 12 पर आधारित OxygenOS 12 को रोल आउट कर रहा है। यह अपडेट फिलहाल केवल भारत में उपलब्ध है। यह कई सुधार लाता है, जिसमें एडजस्टेबल डार्क मोड, ऑप्टिमाइज्ड एआई सिस्टम बूस्टर और बहुत कुछ शामिल हैं। कैनवास एओडी अब विविध लाइनों और रंगों के साथ-साथ नए ब्रश और स्ट्रोक प्रदान करता है। शेनझेन कंपनी ने भारत में चुनिंदा यूजर्स के लिए मंगलवार को भारत में इस अपडेट का इंक्रीमेंटल रोलआउट शुरू किया। इसके अलावा, टी-मोबाइल वनप्लस 8 और वनप्लस 8 टी को भी कथित तौर पर यूएस में यह अपडेट मिल रहा है।OnePlus Norde CE OxygenOS 12 अपडेट चेंजलॉग भारत में OnePlus Nord CE यूजर्स को फर्मवेयर वर्जन EB2101_11.C.04 के साथ OxygenOS 12 अपडेट मिल रहा है। वनप्लस ने घोषणा की है कि यह अपडेट बेहतर आइकन टेक्सचर लाता है। उच्च लोड के तहत भी स्थिर प्रदर्शन के लिए एआई सिस्टम बूस्टर को संस्करण 2.1 में अपग्रेड किया गया है। डार्क मोड में संवेदनशीलता के तीन समायोज्य स्तर जोड़े गए हैं। टेक्स्ट को पढ़ने में आसान बनाने के लिए कार्ड्स के लिए नए स्टाइल विकल्प जोड़े गए हैं। शेल्फ़ में वनप्लस स्काउट को स्मार्टफोन पर ऐप्स, सेटिंग्स, मीडिया डेटा, और बहुत कुछ सहित कई सामग्रियों की खोज करने की सुविधा दी गई है। वर्क लाइफ बैलेंस में एक नई सुविधा जोड़ी गई है जो त्वरित सेटिंग्स के माध्यम से दो मोड के बीच आसान टॉगल करने की अनुमति देती है। इसके अलावा, यह अब स्थान, वाई-फाई कनेक्शन और समय के आधार पर कार्य या जीवन मोड के बीच स्वचालित रूप से स्विच करने के लिए अपग्रेड हो गया है।व्यक्तिगत लॉक स्क्रीन बनाने के लिए कैनवास एओडी को विविध रेखाएं और रंग मिलते हैं। रंग समायोजन का समर्थन करने के लिए कई ब्रश और स्ट्रोक भी जोड़े गए हैं।OnePlus Nord CE यूजर्स को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि अपडेट को इंस्टॉल करने से पहले उनके हैंडसेट में कम से कम 4GB स्पेस उपलब्ध हो और 30 प्रतिशत से ज्यादा बैटरी लाइफ बची हो। संबंधित समाचारों में, T-Mobile OnePlus 8 और OnePlus 8T को भी अंततः OxygenOS 12 अपडेट प्राप्त हो रहा है। पहले वाला प्रतीत होता है कि IN2017_11_C.41 संस्करण प्राप्त कर रहा है जबकि बाद वाले को KB2007_11_C.41 संस्करण मिल रहा है। दोनों अपडेट 4GB आकार के हैं और इसमें जुलाई Android सुरक्षा पैच शामिल है। इन हैंडसेट के अनलॉक किए गए वेरिएंट को इस साल की शुरुआत में मार्च में ऑक्सीजनओएस 12 अपडेट मिला था। संबंधित समाचारों में, T-Mobile OnePlus 8 और OnePlus 8T को भी अंततः OxygenOS 12 अपडेट प्राप्त हो रहा है। पहले वाला प्रतीत होता है कि IN2017_11_C.41 संस्करण प्राप्त कर रहा है जबकि बाद वाले को KB2007_11_C.41 संस्करण मिल रहा है। दोनों अपडेट 4GB आकार के हैं और इसमें जुलाई Android सुरक्षा पैच शामिल है। इन हैंडसेट के अनलॉक किए गए वेरिएंट को इस साल की शुरुआत में मार्च में ऑक्सीजनओएस 12 अपडेट मिला था।

Continue Reading

गैजेट्स

बच्चों को ई-बुक से नहीं किताबों से पढ़ाएं

Published

on

लॉकडाउन के दौरान आजकल ऑनलाइन पढ़ाई का दौर शुरु हो गया है पर इसमें भी एक संतुलन रखना जरुरी है। मोबाइल और हाई टेक गैजेट के अधिक इस्तेमाल से बच्चों को कई प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं। यह सही है कि आजकल तकनीक के दौर में लोगों का काम तो आसन हो गया है, लेकिन रिश्तों में दूरियां आनी शुरू हो गई हैं। पहले जहां माता पिता अपने बच्चों के साथ समय बिताया करते थे, उनको कहानियां सुनाया करते थे, तो वहीं आज तकनीक के इस युग में इन सभी चीजों में तेजी से बदलाव आ रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार जो माता-पिता अपने बच्चों को किताबों की जगह ई-बुक से पढ़ाते हैं, उनका ध्यान बच्चों को पढ़ाने से ज्यादा तकनीक के बारे में चर्चा करने में रहता हैं।
अध्ययन के दौरान 37 अभिभावकों के साथ उनके बच्चों को भी शामिल किया गया। इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने तीन पहलुओं पर विशेष ध्यान दिया- प्रिंट बुक, इलेक्ट्रॉनिक बुक और एडवांस इलेक्ट्रॉनिक बुक, जिसमें साउंड के साथ एनिमेशन भी था।
इसमें सामने आया कि जो माता-पिता बच्चों को ई-बुक के माध्यम से पढ़ाते हैं, उनका ध्यान बच्चों की पढ़ाई में कम और तकनीक में ज्यादा होता है। यही कारण है कि बच्चे पढ़ाई में ज्यादा ध्यान नहीं लगा पाते हैं और अभिभावक भी उतने प्रभावशाली तरीके से उन्हें पढ़ाने में असफल रहते हैं।
बच्चों से बात करने और उन्हें पढ़ाने से बच्चों में लैंग्वेज स्किल्स विकसित होते हैं। साथ ही बच्चों की अपने अभिभावकों के साथ बॉन्डिंग भी मजबूत होती है। किताबों से पढ़ते समय बच्चों को जो अनुभव मिलते हैं, उन्हें वो लंबे समय तक याद रहते हैं। इसके अलावा बच्चों का दिमाग भी बेहतर ढंग से विकसित हो पाता है, जिस कारण वो नई चीजें जल्दी और आसानी से सीख पाते हैं।

Continue Reading

गैजेट्स

आईओएस 14.5 : मास्क पहनकर आईफोन को कर सकेंगे अनलॉक

Published

on

नई दिल्ली| एप्पल ने अपने नए अपडेट आईओएस 14.5 की पेशकश की है, जिसकी मदद से आईफोन यूजर्स एप्पल वॉच के सहारे अपने डिवाइस को अनलॉक कर सकेंगे। यानि कि अपडेट के चलते महामारी के इस दौर में चेहरे पर मास्क लगाकर भी फोन सहित अन्य ऐपों को भी अनलॉक किया जा सकेगा। आईओएस 14.5 के साथ कई और रोमांचक फीचर्स को भी पेश किया गया है जैसे कि सिरी की अलग-अलग आवाजें, ईमोजी में अगल-अलग स्किन टोन इत्यादि।

एप्पल ने सोमवार देर रात अपने एक बयान में कहा कि आईओएस 14.5 अब एक फ्री सॉफ्टवेयर अपडेट के रूप में उपलब्ध है।

कंपनी ने बताया, “कलाई में एप्पल वॉच को पहनने के साथ ही फोन को अनलॉक किया जा सकेगा। इसके लिए फोन के करीब जाकर उसे एक नजर बस देखना होगा। इसके बाद यूजर्स को एप्पल वॉच की तरफ से एक फीडबैक मिलेगा, जिससे पता चल जाएगा कि फोन अनलॉक हो चुका है।” यह नया फीचर फिलहाल आईफोन एक्स में उपलब्ध है, जिसे बाद में एप्पल वॉच सीरीज 3 और इसके बाद के डिवाइसों में पेश किया जाएगा।

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: