Connect with us

दिल्ली एन.सी.आर

दस्तावेज लीक मामला : अदालत ने आरोपत्र स्वीकारा

Published

on

नई दिल्ली| केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय से दस्तावेजों की चोरी से संबंधित मामले में 13 आरोपियों के खिलाफ दायर आरोपपत्र पर अदालत ने सोमवार को संज्ञान लिया।(new delhi news) मुख्य महानगर दंडाधिकारी संजय खनगवाल ने इस मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा दायर आरोपपत्र को स्वीकार कर लिया और इससे संबंधित दस्तावेजों को आरोपियों को मुहैया कराने का पुलिस को निर्देश दिया।
इस मामले की अगली सुनवाई 18 मई को होगी। पुलिस ने धोखाधड़ी, जालसाजी, विश्वासघात, चोरी, आपराधिक साजिश से निपटने वाली विभिन्न धाराओं के तहत औपचारिक रूप से 13 आरोपियों को आरोपित किया है।
दिल्ली पुलिस ने अदालत को बताया कि वह आगे की जांच के आधार पर इस मामले में अतिरिक्त आरोपपत्र दायर करेगी।
सूत्रों के मुताबिक, कड़े सरकारी गोपनीय अधिनियम के प्रावधान आरोपियों के खिलाफ लागू नहीं होते, लेकिन आगे की जांच जारी है। पुलिस ने शनिवार को अपने 44 पृष्ठों के आरोपपत्र में अभियोजन पक्ष के 42 गवाहों का जिक्र किया है।
दिल्ली पुलिस ने 17 फरवरी को केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय सहित विभिन्न मंत्रालयों से संबंधित गोपनीय दस्तावेजों को लीक करने के मामले में प्राथिमिकी भी दर्ज की है।
इस मामले में आरोपियों में पांच कॉर्पोरेट अधिकारी शामिल हैं, जिनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के कॉर्पोरेट मामलों के प्रबंधक शैलेश सक्सेना, जुबिलैंट एनर्जी के वरिष्ठ कार्यकारी अधिकारी सुभाष चंद्रा, एस्सार के उपमहाप्रबंधक विनय कुमार, रिलायंस एडीएजी के उपमहाप्रबंधक ऋषि आनंद और कैर्नस इंडिया के महाप्रबंधक के.के.नायक शामिल हैं।
इस मामले में पूर्व पत्रकार शांतनु सैकिया और मेलबर्न में ऊर्जा क्षेत्र के सलाहकार प्रयास जैन पर भी आरोप तय किए गए हैं।
इस मामले में शामिल अन्य आरोपियों में दिल्ली निवासी और रिश्ते में भाई लालता प्रसाद (36) और राकेश कुमार (30), गाजियाबाद निवासी राजकुमार चौबे (39), सरकारी कर्मचारी आशाराम (58), ईश्वर सिंह (56) और रक्षा मंत्रालय में कर्मचारी के रूप में कार्यरत वीरेंद्र कुमार हैं।
इस दौरान, सैकिया ने दंडाधिकारी खनगवाल के समक्ष जमानत याचिका पेश की।
अभियोजन पक्ष के वकील द्वारा मामले की याचिका का अध्ययन करने के लिए अधिक समय मांगने के बाद अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश राज कपूर ने पांच कॉर्पोरेट अधिकारियों और वीरेंद्र कुमार की जमानत याचिका पर सुनवाई रद्द कर दी। सत्र अदालत इन छह आरोपियों की जमानत याचिका पर सुनवाई अब बुधवार को करेगा।

उत्तर प्रदेश

भगवा गढ़ में बन रही है सरकार वालों के व्यापार की कौन सी लिस्ट!

Published

on

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। सरकार वाले बाजार में भी हैं और अलग अलग व्यापार में भी हैं। बस कारोबार को लेकर वो रडार पर आ गये हैं। सुना है कि सयंम वाले मामले के बाद भगवा कारोबारियों के व्यापार की लिस्ट मांग ली गई है। इस लिस्ट में प्रापर्टी डीलरों से लेकर रेस्टोरेंट कारोबारी हैं तो सरकारी विभागों के ठेकेदारों से लेकर लाईजनिंग वाले नाम भी आ गये हैं।
बताने वाले बता रहे हैं कि लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी कतई नहीं चाहती कि किसी भी भगवाई के कारोबार को लेकर विपक्ष या मीडिया सरकार के काम काज पर किसी तरह की अंगुली उठा दे। अदंरखाने निर्देश मिले हैं कि धुआं, जुआ, शराब, शबाब से लेकर खराब निर्माण वाला भगवाई मिले तो उसे पार्टी से भगा दें। अब सगंठन में पद देते समय इस बात का शिजरा निकल कर आयेगा। पार्टी कारोबार को लेकर सरकार की फजीहत कराने के मूड में नहीं है। कारोबार वाले सावधान हो जाये क्योंकि लिस्ट का ट्वीस्ट अभी नहीं बल्कि आठ महीने के बाद दिखाई देगा।
कन्फर्म सूत्र बता रहे हैं कि इस लिस्ट का ट्वीस्ट आने वाले समय में दिखाई देगा। क्योंकि बड़ी खबर यह है कि अन्दर खाने कौन सा नेता कौन सा कारोबार कर रहा है यह खबर भी भाजपा वाले ही खुद देकर आएंगे। इस लिस्ट में कई के कारोबार निकलकर सामने आएंगे। फिलहाल लिस्ट को लेकर काम शुरु हो गया है।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

पांच फरवरी को आईटीएस कॉलेज में जुटेंगे महानगर के 170 भाजपाई

Published

on

संगठन ने महानगर कार्यसमिति की बैठक है बुलाई
वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। बैठकों का दौर बता रहा है कि भाजपा अपनी सियासी तैयारी को लगातार धार दे रही है। वो अपने संगठन की रणनीति पर चल रही है और यहां राष्टÑीय अध्यक्ष से लेकर मंडल अध्यक्ष तक वो जिम्मेदारियों तय कर रही है। एक बार फिर से भगवागढ में भाजपा के पदाधिकारी जुटने जा रहे हैं। खास बात ये है कि ये बैठक महानगर कार्यकारिणी की बैठक है। भाजपा महानगर कार्यसमिति की बैठक पांच फरवरी को आईटीएस कॉलेज में होगी। इस बैठक में भाजपा महानगर टीम के सभी पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक में चुनावी तैयारियों को लेकर ही संगठन की तैयारियों की समीक्षा होगी। कई योजनाओं को लेकर मंथन-चिंतन हो सकता है। पांच फरवरी को आईटीएस कॉलेज में होने वाली भाजपा महानगर कार्यसमिति की बैठक में मंडल और मोर्चों के पदाधिकारियों सहित 170 भाजपाई शामिल होंगे। आईटीएस कॉलेज में पांच फरवरी को ये बैठक बुलाई
गयी है।
4 सत्र में सांसद और विधायक भी रखेंगे अपनी अपनी बात
भाजपा महानगर कार्यसमिति की बैठक पांच फरवरी को होगी। आईटीएस कॉलेज में होने वाली यह बैठक सुबह साढ़े दस बजे शुरू होगी और चार बजे समाप्त होगी। इस बैठक में महानगर पदाधिकारियों के अलावा लोकसभा सांसद, राज्यसभा सांसद, विधायक और एमएलसी भी मौजूद रहेंगे। बताया जाता है कि आईटीएस कॉलेज में होने वाली इस बैठक को चार सत्र में बांटा गया है। सत्र के समापन पर लोकसभा सांसद तथा केन्द्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह अपना संबोधन देंगे। इस बैठक में राज्यसभा सांसद अनिल अग्रवाल भी मौजूद रहेंगे। इसके अलावा विधायक तथा क्षेत्रीय अध्यक्ष भी इस बैठक में भाग लेंगे। सभी विधायक भी यहां अपने संबोधन में अपनी बात रखेंगे।
पांच फरवरी को भगवा मय रहेगा आईटीएस कॉलेज का सभागार
ये तो सबको पता है कि सरकार वाले अब उस कॉलेज के सभागार से थोड़ी दूरी ही बना रहे हैं। यही वजह है कि अब राष्टÑीय अध्यक्ष जेपी नडडा से लेकर बीस मंडलों के अध्यक्ष भी बैठक करने के लिए नदियापार वाले आईटीएस कॉलेज में आ रहे हैं। पांच फरवरी को जब महानगर कार्यकारिणी की बैठक होगी तो 170 भाजपाई यहां 4 सत्र में अपनी बात रखेंगे। यहां पर केवल महानगर कार्यसमिति के पदाधिकारी ही नहीं आयेंगे बल्कि जिले के सांसद, जिले के विधायक भी आयेंगे और माना जा रहा है कि इस बैठक में क्षेत्रीय अध्यक्ष भी आ सकते हैं।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

भाजपा दफ्तर पर बैठक के बाद अधिकारियों को देंगे फिर निर्देश

Published

on

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। आज जिले के प्रभारी मंत्री बनाये गये असीम अरूण अधिकारियों के साथ बैठक लेंगे और उससे पहले वो भाजपा कार्यालय पर कार्यकर्ताओं से रूबरू होंगे। प्रभारी मंत्री बनने के बाद पूर्व एडीजी असीम अरूण का मंत्री के रूप में यह पहला दौरा गाजियाबाद में होगा।
यहां पर सबसे खास बात यह है कि प्रभारी मंत्री अरूण असीम जिले के अफसरों से बाद में बात करेंगे लेकिन गाजियाबाद में आने के बाद वो सबसे पहले भाजपा महानगर कार्यालय पर कार्यकर्ताओं से बात करेंगे। माना जा रहा है कि वो पहले कार्यकर्ताओं के मन का संदेश लेंगे और फिर उस संदेश के बाद अधिकारियों को निर्देश देंगे। आज इस बैठक पर सभी की निगाहें रहेंगी। क्योंकि प्रभारी मंत्री जहां अधिकारियों की कार्यशैली की फीडबैक भाजपा कार्यकर्ताओं से लेंगे वहीं वो केन्द्र और राज्यसरकार द्वारा चलाई जा रही विकास तथा जन कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा अधिकारियों के साथ करेंगे।
सुबह साढ़े 11 बजे प्रभारी मंत्री आ
जायेंगे गाजियाबाद

(करंट क्राइम)। प्रभारी मंत्री असीम अरूण आज सुबह साढ़े 11 बजे गाजियाबाद आ जायेंगे। जिलाधिकारी गाजियाबाद द्वारा प्रभारी मंत्री का जो प्रस्तावित कार्यक्रम दिया गया है उसमें वो पहले कहां जायेंगे ये नहीं बताया गया है लेकिन ये बताया गया है कि प्रभारी मंत्री गाजियाबाद में केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा करेंगे। वो किसी भी योजना का भौतिक सत्यापन कर सकते हैं। वहीं यह भी बताया गया है कि प्रभारी मंत्री द्वारा संगठन और जनप्रतिनिधियों के बीच संवाद का भी कार्यक्रम है। वहीं भाजपा महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने बताया है कि प्रभारी मंत्री असीम अरूण पहले भाजपा महानगर कार्यालय आयेंगे। यहां पर वो कार्यकर्ताओं के साथ बात करेंगे। उसके बाद वो अपनी सरकारी बैठक के लिए प्रस्थान करेंगे।
वो खुद रह चुके हैं जनसुनवाई का हिस्सा, जानते हैं पूरा किस्सा

(करंट क्राइम)। भगवागढ़ की खास बात ये है कि यहां जो भी प्रभारी मंत्री आता है उसे कार्यकर्ताओं से बात करते ही यह सवाल फेस करने पड़ते हैं कि पुलिस उनकी नहीं सुन रही है। सरकारी कर्मचारी नहीं सुनते हैं। जब आरकेजीआईटी में प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना आये तो यही बात थी और जब कानपुर वाले अजितपाल आये तो तब भी यही बात थी। आज जब प्रभारी मंत्री के रूप में अरूण असीम आयेंगे तो ये देखने की बात होगी कि शिकायतें क्या आयेंगी और समाधान क्या होगा। असीम अरूण खुद आईपीएस अधिकारी रहे हैं। उनके पिता श्रीराम अरूण उत्तर प्रदेश पुलिस के मुखिया रहे हैं। मंत्री बनने से पहले असीम अरूण पुलिस में पुलिस विभाग के एडीजी रहे हैं। लिहाजा जनसुनवाई से लेकर निस्तारण तक उनके लिए कोई नई चीज नहीं है। पुलिस नहीं सुनती है ये सवाल वो अपने अधिकारी वाले कार्यकाल में भी कई बार सुन चुके होंगे। प्रभारी मंत्री बनने के बाद यही सवाल जब उनके सामने आयेगा तो ये देखा जायेगा कि वो जन सुनवाई को त्वरित करने के लिए क्या निर्देश देते हैं। ­

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: