Connect with us

उड़ीसा

वाम दलों की एकजुटता आवश्यक : करात

Published

on

विशाखापत्तनम| मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) का सम्मेलन यहां मंगलवार को शुरू हुआ। (odisha hindi news) सम्मेलन में पार्टी महासचिव प्रकाश करात ने पार्टी को अधिक सशक्त बनाने तथा हाल के वर्षो में पार्टी को हुए नुकसान से उबरने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने वामदलों की एकता का भी आह्वान किया। माकपा की 21वीं कांग्रेस को संबोधित करते हुए करात ने कहा कि दक्षिणपंथी आक्रामकता से मुकाबले के लिए वामपंथी एकता को मजबूत करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, “वर्तमान समय में माकपा और वामपंथी दलों की स्वतंत्र शक्ति का विस्तार अत्यावश्यक है। हमें हाल के समय में खासतौर से पश्चिम बंगाल में माकपा और वामपंथी दलों को मिली पराजय से उबरना होगा।”

उन्होंने सभी वाम दलों और समूहों को एक बड़े मंच पर एक साथ लाने और वाम नेतृत्व वाले जन संगठनों के बीच समन्वय स्थापित करने की जरूरत को रेखांकित किया।

उन्होंने कहा, “वामपंथी दलों की मजबूत एकता से हम अन्य सभी लोकतांत्रिक ताकतों को एकत्र कर सकते हैं और वामपंथ एवं लोकतांत्रिक दिशा में आगे बढ़ सकते हैं।”

करात ने कहा कि इस सम्मेलन से लोगों को एक स्पष्ट और सुनिश्चित संदेश जाएगा कि भ्रष्ट एवं सांप्रदायिक व्यवस्था का एकमात्र विकल्प वाम और लोकतांत्रिक विकल्प है।

उन्होंने कहा, “हमारे पास केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार है, जो कुछ नहीं बस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का राजनीतिक विस्तार है। इसलिए मोदी सरकार, आरएसएस का संयुक्त उपक्रम है।”

करात ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने हिंदुत्ववादी ताकतों को उनका सांप्रदायिक एजेंडा आगे बढ़ाने का रास्ता दिया है।

उन्होंने कहा, “भाजपा और आरएसएस भारतीय संविधान की धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक नींव को ध्वस्त करना चाहते हैं।”

भाकपा के महासचिव एस.सुधाकर रेड्डी तथा सात अन्य वाम दलों के प्रतिनिधियों ने उद्घाटन सत्र में हिस्सा लिया।

उन्होंने विश्वास जताया कि पार्टी को नई दिशा देने में 21वीं कांग्रेस मील का पत्थर साबित होगी।

छह दिनों तक चलने वाले अधिवेशन में देश भर के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। यह सम्मेलन कामगारों, किसानों मजदूरों तथा दलितों के संघर्ष और सतत आंदोलन द्वारा दक्षिणपंथी आक्रामकता से किस प्रकार मुकाबला किया जाए, इसपर केंद्रित होगा।

करात ने कहा कि पार्टी सामाजिक मुद्दों को सक्रियता पूर्वक उठाएगी और महिलाओं, जनजातियों, दलितों व अल्पसंख्यकों के अधिकार के लिए लड़ाई जारी रखेगी।

माकपा नेता ने कहा कि मात्र 10 महीनों के कार्यकाल में मोदी सरकार ने देश के संसाधनों को बड़े कॉरपोरेट कंपनियों व विदेशी कंपनियों को स्थानांतरित करने के लिए कई कदम उठाए हैं, जो आज तक पिछली किसी सरकार ने नहीं किया।

करात ने कहा कि मोदी सरकार की विदेश नीति में दक्षिणपंथी एजेंडा साफ झलकता है, जो अमेरिकी साम्राज्यवाद के साथ सक्रिय गठबंधन के लिए ललायित है।

उन्होंने कहा, “मोदी के अच्छे दिन से किसे फायदा हुआ, यह इस बात से स्पष्ट होता है कि बड़े पूंजीपति गौतम अडानी की संपत्ति एक साल के अंतराल (2013-14) में 25 हजार करोड़ रुपये बढ़ गई।”

करात ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने हिंदूवादी ताकतों को अपना सांप्रदायिक एजेंडा आगे बढ़ाने के लिए अपना दरवाजा खुला रख छोड़ा है। उन्होंने कहा, “भाजपा तथा आरएसएस भारतीय संविधान की धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक नींव को नष्ट करने पर आमदा हैं।”

उन्होंने कहा कि आरएसएस शैक्षिक प्रणाली, शोध व सांस्कृतिक संस्थानों में अपना एजेंडा चला रही है। उन्होंने कहा, “अल्पसंख्यकों के खिलाफ एक निंदनीय अभियान चलाया जा रहा है। वे धर्मातरण का जोखिम झेल रहे हैं व उनके धार्मिक स्थलों पर हमले हो रहे हैं और गोमांस पर पाबंदी से उनके भोजन व सांस्कृतिक अधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। ”

उन्होंने उल्लेख किया कि भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ एक व्यापक अभियान चलाया जा रहा है और सभी ट्रेड यूनियन इसके खिलाफ एकजुट हैं।

उड़ीसा

ओडिशा में कोविड-19 से मौतों का आंकड़ा 100 के पार

Published

on

भुवनेश्वर | ओडिशा में कोविड-19 के संक्रमण से मौतों का आंकड़ा 100 के पार चला गया। बीते 24 घंटों में और 6 लोगों की मौत हो जाने से आंकड़ा बढ़कर 103 हो गया। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी मंगलवार को दी। ये मौतें केंद्रपाड़ा, गजपति, खुर्दा जगतसिंहपुर, रायगढ़ और कटक जिलों में हुई हैं। राज्य में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 647 नए मामले सामने आए। इसके साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 18,757 हो गई। विभाग ने कहा कि 647 जो नए मामले सामने आए हैं, इनमें से 431 क्वारंटाइन केंद्रों से और 216 स्थानीय संपर्को के कारण हुए संक्रमण के मामले हैं। हॉटस्पॉट गंजम में सबसे ज्यादा 225 पॉजिटिव मामले हैं, जबकि कटक में 84, खोर्धा में 68 और रायगढ़ में 47 पॉजिटिव मामले हैं। राज्य में सक्रिय मामले बढ़कर 5,715 हो गए हैं, जबकि अब तक 12,909 लोग संक्रमण से मुक्त हुए हैं।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

ओड़िया फिल्म अभिनेता विजय मोहंती का निधन

Published

on

भुवनेश्वर | वरिष्ठ ओड़िया फिल्म अभिनेता एवं निर्देशक विजय मोहंती का यहां के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 70 वर्ष के थे। मोहंती के पार्थिव शरीर की अंत्येष्टि मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि सोमवार की शाम अभिनेता की तबीयत बिगड़ गई। गंभीर में उन्हें भुवनेश्वर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी सांसें हमेशा के लिए थम गईं। अभिनेता को 14 जून को विशेष एंबुलेंस से हैदराबाद से ओडिशा लाया गया था। इससे पहले, दिल का दौरा पड़ने के बाद वह हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। विजय मोहंती राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के छात्र रह चुके हैं। उन्होंने 1977 में ओड़िया फिल्म इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत की थी। वह अब तक 150 फिल्मों में काम कर चुके हैं। उन्हें साल 2014 में जयदेव पुरस्कार और कला व साहित्य में उतकृष्ट योगदान के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

ओ़डिशा में एक दिन में सामने आए कोविड के 718 नए मामले

Published

on

भुवनेश्वर | ओडिशा में बीते 24 घंटों में 718 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद राज्य में कोविड -19 मामलों में बड़ी वृद्धि दर्ज की गई है। शुक्रवार को आए नए मामलों के बाद यहां कुल मामले 16,110 हो गए हैं। राज्य में बीते 24 घंटों में सामने आए चार नई मौतों की सूचना के बाद यहां कोविड -19 से होने वाली मौतों की संख्या बढ़कर 83 हो गई। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी।
यह चार मौतें अंगुल, गंजाम और गजपति जिलों में हुई हैं।  कोरोनावायरस से अंगुल में एक 66 वर्षीय व्यक्ति, गजपति में 56 वर्षीय पुरुष और गंजाम में 57 वर्षीय पुरुष और एक 60 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। वहीं सामने आए ताजा मामलों में से, 479 मामले क्वारंटाइन केंद्रों से रिपोर्ट किए गए और बाकी 239 मामले स्थानीय हैं। गंजाम जिले में खोरदा (150), मलकानगिरी (54), कटक (32) और क्योंझर (28) में सबसे अधिक 231 पॉजीटिव मामले दर्ज किए गए हैं। विभाग ने कहा कि ओडिशा में अब 5,124 सक्रिय मामले हैं और 10,877 लोग इससे ठीक हो चुके है।  राज्य सरकार ने सुंदरगढ़ जिले के गंजाम, खोरदा, कटक और जाजपुर और राउरकेला नगर निगम में शुक्रवार सुबह 9 बजे से लॉकडाउन की घोषणा की है। यह लॉकडाउन 31 जुलाई की मध्यरात्रि तक जारी रहेगा।

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: