Connect with us

उड़ीसा

ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री गमांग ने छोड़ा कांग्रेस का दामन

Published

on

भुवनेश्वर| दिग्गज नेता और ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री गिरिधर गमांग ने शनिवार को कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। (odisha hindi news) पूर्व केंद्रीय मंत्री और कोरापुट लोकसभा सीट से नौ बार कांग्रेस सांसद रह चुके गमांग ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को फैक्स किए गए पत्र में लिखा कि उन्होंने यह फैसला इसलिए लिया क्योंकि उन्हें 1999 से पार्टी में अपमानित किया जा रहा है।

हालांकि उन्होंने बताया कि वह किसी और पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं। लेकिन उनके बेटे ने संकेत किया है कि पिता और बेटा दोनों जल्दी एक राष्ट्रीय पार्टी में शामिल होंगे।

गमांग ने यहां संवाददाताओं को बताया, “मैं तत्काल प्रभाव से कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं। मैंने यह फैसला इसलिए किया क्योंकि पार्टी नेतृत्व द्वारा मुझे बहुत अपमानित किया गया है।”

गमांग ने कहा कि वह स्वतंत्र व्यक्ति बनना चाहते हैं। हालांकि उनका राजनीति छोड़ने का कोई इरादा नहीं है।

उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने किसी और पार्टी में शामिल होने के लिए कांग्रेस नहीं छोड़ी है।

गमांग ने कहा, “मैंने कुछ भी गलत नहीं किया। मैं आजाद बनना चाहता था। एक बार यह फैसला लेने के बाद अब वापस कांग्रेस में जाने का सवाल ही नहीं उठता।”

कांग्रेस से अलग होने के कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि वह 17 अप्रैल,1999 से पार्टी छोड़ना चाहते हैं, जब संसद में अटल बिहारी वाजपेई सरकार के खिलाफ वोट देने के कारण पैदा हुए विवाद से निपटने में पार्टी ने उनका साथ नहीं दिया था।

उन्होंने कहा, “साल 1999 में, मेरे वोट से वाजपेई सरकार गिरने के बाद से मुझे सार्वजनिक तौर पर अपमानित होना पड़ रहा है, तब से पार्टी और इसके नेताओं ने सच का खुलासा नहीं किया और ना ही सार्वजनिक आलोचना से मुझे बचाया ।”

गमांग ने कहा, “मुझे लगता है कि पार्टी के प्रति मेरी वफादारी, पार्टी के लिए बोझ हो गई है।”

जनजातीय नेता गमांग ने बताया कि उन्होंने तत्कालीन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ कांग्रेस द्वारा जारी विप से अलग मतदान किया था।

हालांकि उन्होंने किसी अन्य पार्टी में शामिल होने की बात से इंकार किया है, फिर भी उनके बड़े बेटे शिशिर गमांग ने संकेत दिया है कि वह और उनके पिता जल्द ही एक राष्ट्रीय पार्टी में शामिल होंगे।

शिशिर ने कहा, “निकट भविष्य में हम एक राष्ट्रीय पार्टी में शामिल होंगे। सारी चीजें चार-पांच दिनों में स्पष्ट हो जाएंगी।”

गमांग 17 फरवरी, 1999 से छह दिसंबर 1999 तक ओडिशा के मुख्यमंत्री रहे हैं। वह नौ बार कांग्रेस सांसद और चार बार केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं।

उड़ीसा

ओडिशा में कोविड-19 से मौतों का आंकड़ा 100 के पार

Published

on

भुवनेश्वर | ओडिशा में कोविड-19 के संक्रमण से मौतों का आंकड़ा 100 के पार चला गया। बीते 24 घंटों में और 6 लोगों की मौत हो जाने से आंकड़ा बढ़कर 103 हो गया। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी मंगलवार को दी। ये मौतें केंद्रपाड़ा, गजपति, खुर्दा जगतसिंहपुर, रायगढ़ और कटक जिलों में हुई हैं। राज्य में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 647 नए मामले सामने आए। इसके साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 18,757 हो गई। विभाग ने कहा कि 647 जो नए मामले सामने आए हैं, इनमें से 431 क्वारंटाइन केंद्रों से और 216 स्थानीय संपर्को के कारण हुए संक्रमण के मामले हैं। हॉटस्पॉट गंजम में सबसे ज्यादा 225 पॉजिटिव मामले हैं, जबकि कटक में 84, खोर्धा में 68 और रायगढ़ में 47 पॉजिटिव मामले हैं। राज्य में सक्रिय मामले बढ़कर 5,715 हो गए हैं, जबकि अब तक 12,909 लोग संक्रमण से मुक्त हुए हैं।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

ओड़िया फिल्म अभिनेता विजय मोहंती का निधन

Published

on

भुवनेश्वर | वरिष्ठ ओड़िया फिल्म अभिनेता एवं निर्देशक विजय मोहंती का यहां के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 70 वर्ष के थे। मोहंती के पार्थिव शरीर की अंत्येष्टि मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि सोमवार की शाम अभिनेता की तबीयत बिगड़ गई। गंभीर में उन्हें भुवनेश्वर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी सांसें हमेशा के लिए थम गईं। अभिनेता को 14 जून को विशेष एंबुलेंस से हैदराबाद से ओडिशा लाया गया था। इससे पहले, दिल का दौरा पड़ने के बाद वह हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। विजय मोहंती राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के छात्र रह चुके हैं। उन्होंने 1977 में ओड़िया फिल्म इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत की थी। वह अब तक 150 फिल्मों में काम कर चुके हैं। उन्हें साल 2014 में जयदेव पुरस्कार और कला व साहित्य में उतकृष्ट योगदान के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।

Continue Reading

अन्य ख़बरें

ओ़डिशा में एक दिन में सामने आए कोविड के 718 नए मामले

Published

on

भुवनेश्वर | ओडिशा में बीते 24 घंटों में 718 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद राज्य में कोविड -19 मामलों में बड़ी वृद्धि दर्ज की गई है। शुक्रवार को आए नए मामलों के बाद यहां कुल मामले 16,110 हो गए हैं। राज्य में बीते 24 घंटों में सामने आए चार नई मौतों की सूचना के बाद यहां कोविड -19 से होने वाली मौतों की संख्या बढ़कर 83 हो गई। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी।
यह चार मौतें अंगुल, गंजाम और गजपति जिलों में हुई हैं।  कोरोनावायरस से अंगुल में एक 66 वर्षीय व्यक्ति, गजपति में 56 वर्षीय पुरुष और गंजाम में 57 वर्षीय पुरुष और एक 60 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। वहीं सामने आए ताजा मामलों में से, 479 मामले क्वारंटाइन केंद्रों से रिपोर्ट किए गए और बाकी 239 मामले स्थानीय हैं। गंजाम जिले में खोरदा (150), मलकानगिरी (54), कटक (32) और क्योंझर (28) में सबसे अधिक 231 पॉजीटिव मामले दर्ज किए गए हैं। विभाग ने कहा कि ओडिशा में अब 5,124 सक्रिय मामले हैं और 10,877 लोग इससे ठीक हो चुके है।  राज्य सरकार ने सुंदरगढ़ जिले के गंजाम, खोरदा, कटक और जाजपुर और राउरकेला नगर निगम में शुक्रवार सुबह 9 बजे से लॉकडाउन की घोषणा की है। यह लॉकडाउन 31 जुलाई की मध्यरात्रि तक जारी रहेगा।

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: