Connect with us

उत्तराखंड

जम्मू एवं कश्मीर में बारिश, भूस्खलन के बाद मुगल मार्ग बंद

Published

on

जम्मू| जम्मू एवं कश्मीर में भारी बारिश के कारण बुधवार को हुए भूस्खलन के बाद ऐतिहासिक मुगल मार्ग को वाहनों के आवागमन के लिए बंद कर दिया गया है। (mughal road in jammu and kashmir) एक यातायात पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “भारी बारिश के कारण पुंछ जिले के शिकारगढ़ में मुगल मार्ग पर भूस्खलन हुआ है। रास्ते से मलबा साफ होने के बाद ही यहां वाहनों के परिचालन की अनुमति दी जाएगी।”

पांच महीनों तक बंद रहने के बाद तीन मई को 84 किलोमीटर लंबे इस मार्ग को वाहनों के परिचालन के लिए खोला गया था।

मुगल मार्ग जम्मू क्षेत्र में पुंछ जिले के बफ्लियाज कस्बे को कश्मीर घाटी के शोपियां कस्बे से जोड़ता है।

यह ऐतिहासिक मार्ग पीर पंजाल पर्वत श्रृंखला से होकर गुजरता है और 16वीं सदी में मुगल सम्राट इस मार्ग का उपयोग कश्मीर जाने के लिए करते थे।

जम्मू एवं कश्मीर सरकार ने मुगल मार्ग को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के वैकल्पिक मार्ग का दर्जा देने का फैसला किया है। इस समय कश्मीर घाटी को देश के दूसरे इलाकों से जोड़ने का एक मात्र जरिया जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग है।

इस बीच, जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग बुधवार को एकतरफा यातायात के लिए खुला रहा।

यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, “आज (बुधवार) सभी गाड़ियां श्रीनगर से जम्मू की तरफ जा रही हैं, विपरीत दिशा से वाहनों को आने की अनुमति नहीं है।”

राज्य में बारिश और हिमपात के दौरान जम्मू-श्रीनगर मार्ग अक्सर बाधित होता है।

उत्तराखंड

मसूरी के एलबीएस अकादमी में कोरोना विस्फोट, एक साथ 84 ट्रेनी आईएएस कोरोना संक्रमित

Published

on

मसूरी । मसूरी के एलबीएस अकादमी में कोरोना विस्फोट हुआ है, जहां एक साथ 84 ट्रेनी आईएएस कोरोना संक्रमित हो गए हैं। दरअसल लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी मसूरी में कोरोना विस्फोट हुआ है। अकादमी के 84 ट्रेनी आईएएस अफसर और कर्मचारी एक साथ कोरोना पॉजिटिव हुए हैं।

जिसके बाद प्रशासन द्वारा अकादमी के भीतर ही कंटेनमेंट जोन बनाए जा रहे हैं। सभी के स्वास्थ्य का ख्याल रखा जा रहा है।
प्रशासन बड़े पैमाने पर हुई लापरवाही को लेकर भी जांच कर रहा है।

Continue Reading

उत्तराखंड

सीएम धामी से मिले पहले सीडीएस बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत, हो सकते हैं बीजेपी में शामिल

Published

on

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है कि देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत ने मुलाकात की, जनरल बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत जल्द भाजपा में ज्वाइन कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, दिल्ली में देश के प्रथम सीडीएस और उत्तराखण्ड के अभिमान स्वर्गीय बिपिन रावत जी के भाई कर्नल विजय रावत जी से भेंट की। बिपिन रावत जी व उनके परिवार द्वारा की गई राष्ट्रसेव को हमारा नमन है। मैं सदैव उनके सपनों के अनुरूप उत्तराखण्ड बनाने हेतु कार्य करता रहूंगा।

बुधवार को हुई इस मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है। यह संभावना जताई जा रही है कि विजय रावत जल्द भाजपा में शामिल हो सकते हैं। इस दौरान विजय रावत ने कहा भी कि हमारे परिवार की विचारधारा बीजेपी से मिलती है। मैं बीजेपी के लिए काम करना चाहता हूं। अगर बीजेपी कहेगी तो मैं चुनाव भी लड़ूंगा।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आज विजय रावत से भेंट की। बिपिन रावत व उनके परिवार द्वारा की गई राष्ट्रसेवा को हमारा नमन है। मैं सदैव उनके सपनों के अनुरूप उत्तराखंड बनाने हेतु कार्य करता रहूंगा। 14 फरवरी को उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होगा। चुनाव के परिणाम 10 मार्च को आएंगे। गौरतलब है कि देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत समेत अन्य 12 अन्य लोगों का आठ दिसंबर 2021 को कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे में निधन हो गया था।

Continue Reading

उत्तराखंड

गढ़वाल की बेटी ने किया नाम रोशन, उत्तराखंड की बेटी प्रीति धनाई को प्रथम स्थान पाने पर मिला गोल्ड मेडल

Published

on

देहरादून/टिहरी गढ़वाल। मोती लाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इलाहाबाद प्रयागराज की 2021 के फाइनल परीक्षा में प्रथम स्थान हासिल करने पर टिहरी की प्रीति धनाई को गोल्ड मेडल मिला है। उनकी इस उपलब्धि पर परिजनों के साथ ही क्षेत्र में खुशी की लहर है। टिहरी जिले के प्रतापनगर विधानसभा के रौलाकोट गांव की रहने वाली प्रीति धनाई को मोती लाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इलाहाबाद प्रयागराज ने सिविल इंजीनियरिंग में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर यह मेडल दिया है।

प्रीति को गोल्ड मेडल मिलने पर गांव के साथ-साथ प्रताप नगर विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने बधाइयां दी है। प्रीति को गोल्ड मेडल मिलने पर पूरे परिवार में खुशी की लहर है। प्रीति धनाई की प्रारंभिक शिक्षा गांव के सरस्वती शिशु मंदिर रौलाकोट से हुई। उसके बाद हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा सरस्वती विद्या मंदिर चंबा टिहरी गढ़वाल से की। उन्होंने बीटेक टीएचडीसी इंस्टिट्यूट ऑफ हाइड्रो पावर एंड टेक्नोलॉजी बीपुरम टिहरी से की और एम-टेक मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी इलाहाबाद प्रयागराज से की। वर्तमान समय में प्रीति आईआईटी दिल्ली से पीएचडी की पढ़ाई कर रही है। प्रीति के पिता गजपाल सिंह एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं और मां गृहणी है।

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this: